Tuesday, August 13, 2019

यशोदा छंद "प्यारी माँ"

तु मात प्यारी।
महा दुलारी।।
ममत्व पाऊँ।
तुझे रिझाऊँ।।

गले लगाऊँ।
सदा मनाऊँ।।
करूँ तुझे माँ।
प्रणाम मैं माँ।।

तु ही सवेरा।
हरे अँधेरा।।
बिना तिहारे।
कहाँ सहारे।।

दुलार देती।
बला तु लेती।।
सनेह दाता।
नमामि माता।।
===========
लक्षण छंद:-

"जगाग" राचो।
'यशोदा' पाओ।।

121+ गुरु+ गुरु =5 वर्ण,4 चरण  दो-दो तुकांत
**************

बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
तिनसुकिया
05-06-17

No comments:

Post a Comment